आदिवासी क्षेत्रों में छाई शोक की लहर- पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री बूटा सिंह का निधन

रिपोर्ट- धर्माराम ग्रासिया
एडींटिंग – अल्का बुंबडिया
02/01/2021
Kotdatimes

आबुरोड़ (सिरोही),
आदिवासियों के प्रसिद्ध सियावा गणगौर में कई वर्षों तक शिरकत करने वाले पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री सरदार बूटा सिंह के निधन से आदिवासी क्षेत्रों में शोक की लहर फैल गई है। उनके नाम के चले गाने ने क्षेत्र में खूब ख्याति पाई थी। स्वर्गीय बूटा सिंह के लगातार सियावा गणगौर मेले में आते रहने से आदिवासियों ने उनका नाम का गाना चला दिया था वह गाना इलाके में इतना चला कि अभी ‘”रमर भमर”का जो गाना चल रहा है,उससे कहीं ज्यादा बुलंद हुआ था। इसके अलावा पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री बूटा सिंह को आदिवासियों का सांस्कृतिक कार्यक्रम इतना पसंद आया था कि वह निचला खेजड़ा की कपूरा राम एंड पार्टी को त्रिमूर्ति भवन दिल्ली में ले गए थे और वहां पर कार्यक्रम का आयोजन करवाया था।
सरदार बूटा सिंह एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे। वह पूर्व में भारत के गृह मंत्री तथा बिहार के राज्यपाल के पद पर भी रह चुके है। सिंह भारत के राजस्थान राज्य के जालौर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से चार बार सांसद निर्वाचित हुए थे। ऐसे महान व्यक्ति का निधन होने से पूरे देश के साथ-साथ राजस्थान के आदिवासी क्षेत्रों में शौक की लहर फैल गई है।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

576 views