आदिवासी क्षेत्रों में परिवार के लोग़ बाहर मजदूरी जाने पर वृद्धाओं की बढ़ी दिक्कतें

रिपोर्ट-धरमाराम गरासियां(Kotdatimes.com)
01/01/2021

आबुरोड़ (सिरोही),
आदिवासी क्षेत्र के गांवों में सर्दी का मौसम कहर बरसा रहा है। और इस क्षेत्र के लोग मजदूरी कर के अपना जीवन यापन करते हैं। बात करें उपलागढ़ व भाखर क्षेत्रों की तो यहाँ पहाड़ों पर बरसाती फसल के बाद अधिकांश लोग घर छोड़कर राज्य व जिलें के बाहर कुओ पर काम करने चले जाते हैं,इस कारण घरों को संभालने वाले केवल वयोवृद्धाओं ही रह जातें है जोकि बड़ी दिक्कतों के साथ अपना गुजारा करते हैं। दुसरी ओर प्राय क्षेत्र में देखा गया है कि घर के परिजन रोजी रोटी की फिक्र में इसलिए घर पर नहीं आ पाते की उनके यहां आ जाने पर कुआं मालिक दूसरों को रख देते हैं,अगर वह आ भी गए तो अपने गाँव में कैसे उठाएंगे खर्चें। ऐसे में घर संभाल रहे वृद्धजनों को सर्दी के बचाव के लिए ऊनी वस्त्रों का प्रबंधन वे चाहते हुए भी नहीं कर पा रहें है। इतनी ज्यादा मात्रा में चलती सर्दी का मौसम वृद्धों को ठिठुरता है इससे बचने के लिए ऊनी वस्त्र (कपड़े) की आवश्यकता होती है जोकि वयोवृद्धों के पास इतनें रुपये खर्च करने की उपलब्धता नहीं होतीं जिससे वह सर्दी से ठिठुरातें रहतें है। दुसरी ओर देखें तो माउंट आबू और राजस्थान व देश के कई राज्यों व जगाहों पर सर्दी ने ताड़व मचा रखा है।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

602 views