कैसे बचाये लाखो रूपये – आइये जाने कोटडा टाइम्स के साथ – खुलवाये पीपीएफ अकाउंट

लेख – अल्का बुंबडिया (kotdatimes)
15/9/2020

पीपीएफ अकाउंट (पब्लिक प्रोविडण्ड फंड) भारत सरकार की ओर से अपने नागरिकों को उपलब्ध कराई गई ऐसी बचत योजना है जो ट्रिपल E [EEE-Exempt(छुट)-Exempt श्रेणी में रखी जाती है। यानी की इसमे डिपॉजिट किए गए पैसे पर शुरुआत से लेकर अंत तक आपको कही भी कभी भी कोई टैक्स अदा नही करना होगा। पीपीपी अकाऊंट की स्थापना भारत सरकार ने ई.स-1968 में की थी। इसका उदेश्य यह था की असंगठित क्षेत्र के जिन कर्मचारियों के लिए EPF पेंशन आदि की सुविधा नही है उन्हे भी अपने भविष्य के लिए पैसा बचाने का मौका मिले ओर ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना को अपनाए इसके लिए सरकार ने पीपीएफ को हर तरह के टैक्स से मुक्त रखकर यह योजना बनाई। इतना ही नही पीपीएफ जमा पर कानूनी सेक्शन 80C के तहत टैक्स छुट भी दी। वर्तमान समय में ये योजना काफी लॉकप्रिय है,जो की टेक्स सेविंग्स और अच्छी ब्याज दर की वजह से लोग इसे अपनाते है।
पीपीएफ से जुड़ी सबसे अच्छी बात यह भी है की इसे देश का कोई भी नागरिक अकाउंट खुलवा सकता है जैसे की सर्विसमेन,बिजनेसमेन,किसान,मजदूर भी इस योजना में अपना अकाउंट खोल सकते है। साथ में यह भी फायदा है की यहा किसी भी उमर की कोई पाबंदी नही है,यहा बच्चे-बुजुर्ग भी पीपीएफ में अपना अकाउंट खुलवा सकते है। इस योजना में NRI यानी की अनिवासी भारतीय पीपीएफ अकाउंट नही खुलवा सकता,लेकिन आपने भारत का नागरिक रहते हुए पीपीएफ अकाउंट खुलवाया था तो उसे आप उसकी अवधी-15 साल पूरी होने तक चालू रख सकते है। NRI को खाता के 15 साल पुरा होते ही इस खाते से तुरंत पुरा पैसा निकाल सकते है,अगर आप(NRI) पैसा नही निकालेंगे तो सेविंग अकाउंट के दर पर ब्याज देना पड़ेगा।
आम तौर पर पीपीएफ 15 वर्ष के लिए होता है। यानी आपको लगातार 15 वर्ष तक इसमे हर महिने पैसे Deposit करने होते है। इस पिरियड के दौरान सामान्य स्थितियों में आप पैसा नही निकाल सकते,लेकिन आपको कोई मुसीबत है ओर पैसा निकालना चाहते हो तो 15 वर्ष से पहले पैसे निकाल सकते है,लेकिन पीपीएफ अकाउंट 5 वर्ष पुराना हो गया हो और पैसे डिपॉज़िट 5 साल तक कम्प्लीट तरह से किया हो तो पांच वर्ष की जो जमा राशि है उसमे से केवल 50% ही निकाल सकते है।
यहां लॉन की भी सुविधाएँ उपलब्ध है आप चाहे तो पीपीएफ अकाउंट पर लॉन ले सकते है लेकिन सिर्फ़ दो वर्ष पूरे हो जाने के बाद 3 वर्ष से 6 वर्ष तक उससे पहले या बाद में आप लॉन नही ले सकते-ग्राहक जमा राशि के 25% की लॉन ले सकते है 1% इंटरेस्ट रेट के साथ – ली गयी लॉन को 36 महिनों (3 वर्ष) में पेमेंट भरपाई करनी होगी।
पहले पीपीएफ अकाउंट 15 वर्ष तक बंद नही करवा सकते थे लेकिन इस वर्ष से बंद कर सकते है,जो कोई जानलेवा बीमारी से झूज रहा हो,रेजीडेंसी चेंज हो गयी हो,एवं हायर एजुकेशन के लिए बंद करवाना हो लेकिन 5 वर्ष के बाद ग्राहक अपना अकाउंट बंद कर सकते है इसमें जमा राशि के 1% का रेड्यूस हो जायेगा।
पीपीएफ अकाउंट में एक वर्ष में 500 रुपये से 150000/- तक की राशि जमा कर सकते है,कैश ओर चेक भी उपलब्ध है । आप वर्ष में जितनी बार चाहे पेमेंट भर सकते हो,यहा जमा राशि पर सरकार तरफ से 7.9 % ब्याज मिलता है -हर तीन महिने में इस ब्याज दर की समिक्षा होती है लेकिन आपके खातें में ब्याज साल मे एक ही बार जूडता है यानी की साल के 31मार्च को ब्याज की गिनती होती है उसके बाद तुरंत ग्राहक के खाते में जमा हो जाता है। अगर तारिख 1 से 5 तक आप डिपॉज़िट जमा करते है तो अच्छा ब्याज मिलता है इसलिए यह सलाह दी जाती है की अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए महिने की 1 से 5 तारिख के बीच राशि जमा करवा दे।
पीपीएफ अकाउंट पोस्ट ऑफिस एवं बैंक में खुलवा सकते है।
इसकी ओर अधिक जानकारी का दुसरा आर्टीकल जल्दी आयेगा।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

799 views