नरेगा में मजदूरों को मेट ही दिलवा सकते हैं पूरी मजदूरी


नरेगा को मजबुत करने के लिये मंच ने प्रारम्भ किया विशेष अभियान

रिपोर्ट -विनोद कुमार (KOTDATIMES.COM) 25/1/2022

नरेगा की न्यूनतम् मजदूरी 221 रुपया हैं लेकिन नपती की व्यवस्था स्थापित नहीं होने के कारण राज्य में अभी औसत मजदूरी 184 रुपया ही मिल रही हैं साथ ही पूरा वर्ष पूर्ण होने को हैं और मात्र 5 प्रतिषत परिवारों द्वारा ही 100 दिवस कार्य पूर्ण किये गये हैं। राज्य में औसत जॉबकार्डधारी परिवारों के कार्य दिवस भी 49 ही हुये हैं। कोटड़ा ब्लॉक की बात करें तो यह ओर भी कम हैं जबकि यहां पर नरेगा हर परिवार की आजीविका का एक मजबुत आधार बन सकता हैं।

मंच के समन्वयक सरफराज ने बताया कि आदिवासी विकास मंच द्वारा नरेगा में मेट की भूमिका स्पष्ट करने, गांव में युवाओं को नरेगा की जानकारी देने, नरेगा के ऑनलाईन एम.आई.एस. संचालन करने व जरुरतमंद परिवारों का फार्म संख्या 6 में आवेदन करने व उसकी रसीद प्राप्त करने जैसे बुनयादी प्रावधानों पर प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन किया जा रहा हैं।

मेट जिम्मेदारी ले तो मिलेगा मजदूरों को 221 रुपया
आज देवला क्षेत्र के 26 गांव के 44 महिला व 46 पुरुष कुल 90 सहभागियो ने भाग लिया जिसमें अधिकांश नरेगा मेट हैं। इन्हें मंच के चन्दूराम गरासिया ने प्रशिक्षण प्रदान किया व बताया की मेट यदि अपनी जिम्मेदारी को सही से निभाये तो कोटड़ा के हर परिवार को 100 दिन कार्य व 22100 रुपया दिलवा सकता हैं।उन्होने सभी मेटों को समूह निर्माण, समूह में कार्य का आवंटन व कार्य पूर्ण होने पर समूहवार नपती व प्रतिदिन की मजदूरी निकालने व उसे मस्टररोल में भरने का तरिका बताया। साथ ही उन्होनें बताया की किस प्रकार मोबाइल पर नरेगा की साईट पर जाकर हर मजदूर का रिकार्ड देखा जा सकता हैं।

नरेगा में 100 दिन पूर्ण तो बन सकता हैं श्रम कार्ड
मंच के अमरसिंह ने बताया कि नरेगा में यदि कोई श्रमिक 90 दिन 1 वर्ष में पूर्ण कर लेता हैं तो भवन निर्माण बोर्ड में उसका पंजियन करवा सकता हैं। इस पंजियन से उस श्रमिक व परिवार की सम्पूर्ण सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित हो सकती हैं। अतः सभी मेटों व गांव के युवाओं को प्रेरित किया की अपने गांव में मार्च से पूर्व 100 दिवस हर परिवार का करवाये व उन्हें निर्माण बोर्ड में पंजिकृत करवाये।

अब नरेगा श्रमिक कर सकेगे 1 वर्ष का एक साथ आवेदन
प्रशिक्षण में मंच के रमेश कुमार द्वारा बताया गया की अब राज्य सरकार द्वारा 1 वर्ष का एक साथ कार्य आवेदन भी किया जा सकता हैं जिसके लिये अपनी पंचायत में जाकर आवेदन प्राप्त कर सभी का आवेदन करवाये व रसीद प्राप्त करें।प्रशिक्षण में होनाराम गमेती, भीमाराम गरासिया, हेमलता श्रीमाली, रेशमाराम, शान्तिलाल व दिलीप ने भी बात रखी।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

590 views