नागपुरा राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय में रेडियो मधुबन ने पोषण का महत्व बता बांटे स्वेटर

रिपोर्ट – रेडियो मधुबन
23/12/2020
(kotdatimes)
ब्रह्माकुमारी संस्थान द्वारा संचालित सामुदायिक रेडियो केंद्र “रेडियो मधुबन 90.4 एफएम” के द्वारा समय-समय पर जनकल्याणकारी कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है । इसी कड़ी में आगे बढ़ते हुए “पोषण की पोटली” कार्यक्रम के अंतर्गत रेडियो मधुबन द्वारा नागपुरा के राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय मे “शारीरिक और मानसिक विकास में पोषण का महत्व” विषय पर कार्यक्रम का आयोजन हुआ | इस कार्यक्रम में स्कूल के कक्षा पहली से छटवीं के बच्चों को जागरूकता दी गई |

इसके साथ ही रेडियो मधुबन स्टेशन अपने 10 साल पूरे करने वाला है, इस अवसर पर रेडियो मधुबन द्वारा विद्यालय की कक्षा पहली से लेकर छठी की छात्रों और छात्राओं को स्वेटर का वितरण किया गया | अवसर पर स्कूल के प्रधानाध्यापक श्री गोपाल राजपुरोहित एवं अचपूरा सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रधानाचार्य श्रीमान कांतिलाल, विद्यालय के समस्त स्टाफ, रेडियो मधुबन के स्टेशन हेड यशवंत पाटिल, कम्युनिटी रिपोर्टर आर.जे. पवित्र, टेक्निकल हेड रोहित और प्रोडक्शन हेड कृष्णा बहन, नागपुरा ग्राम पंचायत के सरपंच प्रीति जी, उपसरपंच तथा सभी निर्विरोधी वार्ड पंच और अन्य सभी गणमान्य ग्रामवासी उपस्थित रहे |

रेडियो मधुबन के स्टेशन हेड यशवंत पाटिल ने छात्रों और छात्राओं से बात करते हुए रेडियो मधुबन की गतिविधि एवं लक्ष्य के बारे में जानकारियां प्रदान की । महिलाओं का समान अधिकार को लेकर “हिंसा को नो” के बारे में सामुदायिक आर.जे . पवित्र जी ने सभी को अवगत कराया एवं फैक्टशाला के तहत अनेक जानकारियां टेक्निकल हेड रोहित जी ने सभी को समझाया। प्रोडक्शन हेड कृष्णा बहन ने “शारीरिक और मानसिक विकास में पोषण का महत्व” के बारे में जानकारी देते हुए बताया की “पोषण की पोटली” कार्यक्रम अग़ले २ महीने तक रेडियो मधुबन में प्रसारित होता रहेगा |

श्रीमान कांतिलाल जी ने ब्रह्माकुमारीज संस्थान और रेडियो मधुबन की कार्यक्रमों को भूरी भूरी प्रशंसा की और आगे भी इस तरह के कार्यक्रम की अपेक्षा रखते हुए आभार किया। इसके बाद ग्राम पंचायत परिसर में एक अन्य कार्यक्रम में सामाजिक दूरी के साथ में फेक न्यूज़ की कारण और निवारण विषय पर कार्यशाला हुई | इसके साथ सरकारी योजनाओं पर जागरूकता के लिए रेडियो मधुबन द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम “योजनाओं के पिटारे” पर भी जानकारी दी गयी |

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

637 views