विधायक राज कुमार रोत पहुंचे काकरी डूंगरी – अभ्यर्थियों ने कहा पहले मांग पुरी करो फिर समर्थन देना


रिपोर्ट – कोटडा टाइम्स पाठक
8 सितंबर 2020 (kotdatimes)

अभ्यर्थियों ने सुनाई खरी-खरी रीट 2018 मैं रिक्त रही अनारक्षित 1167 को लेकर महापड़ाव एवं उग्र प्रदर्शन को उतारू काकरी डूंगरी पर बैठे जनजाति अभ्यर्थियों के बीच में समर्थन देने पहुंचे इस पर अभ्यर्थियों ने विधायक रोत से कहा कि आप और इस क्षेत्र के सभी 17 विधायक एवं क्षेत्र के तमाम जनप्रतिनिधि
हमें समर्थन तब देना जब आप लोग सरकार से हमारी मांग पूरी करवा दें उससे
पहले हमें किसी भी नेता का केवल सेल्फी समर्थन नहीं चाहिए ।

विधायक रोत अभ्यर्थियों से इस वक्त उग्र प्रदर्शन का रूप ना देकर शांति पूर्वक अपना प्रदर्शन करें
आपकी मांग सरकार तक पूर्णतः रूप से पूरी करवाई जाएगी अभ्यर्थियों को उनका धैर्य रखने का अनुरोध किया
कांकेर क्षेत्र के सभी जनप्रतिनिधि आपके साथ हैं और हम पूरी की पूरी कोशिश करेंगे कि सरकार आप की मांग को जल्द से जल्द पूरी करें और प्रशासनिक अधिकारियों से बात करने की कोशिश करूंगा कि इस मसले को तीन-चार दिन में निपटाया जाए हालांकि अभ्यर्थियों ने 8 सितंबर रात 12:00 बजे तक का राज्य सरकार को अल्टीमेटम दे रखा है उसके बाद में राष्ट्रीय राजमार्ग 8 पर कभी भी उग्र प्रदर्शन कर सकते हैं..
अभ्यर्थियों ने कहा कि क्षेत्र के तमाम नेता किसी न किसी पार्टी का हाथ होने के आरोप लगाए जा रहे हैं उनको बता दें कि केवल और केवल यहां बेरोजगार युवा अपने नैतिक समर्थन के बलबूते चढ़े हैं हमें किसी राजनीतिक संगठन या पार्टी की समर्थन की जरूरत नहीं है ।

क्योंकि संगठन और पार्टियों के हस्तक्षेप से हमारे मामले में सुनवाई नहीं हो पा रही हम राज्य सरकार को एक बार पुनः 8 सितंबर की रात्रि 12:00 बजे तक प्रशासनिक कमेटी को अल्टीमेटम देते हैं एवं TSP एरिया के तमाम कोंग्रेस, बीजेपी एवं बीटीपी के जन प्रतिनिधियों को 9 सितंबर 12:00 बजे तक का अल्टीमेटम देते हैं कि क्षेत्र के तमाम जनप्रतिनिधि अगर काकरी डूंगरी पर नहीं पहुंचे तो केवल और केवल अभ्यर्थी ही राष्ट्रीय राजमार्ग 8 की और कूच कर सकते हैं
क्षेत्र के तमाम जनप्रतिनिधियों के पास 9 सितंबर 12:00 बजे तक का समय अल्टीमेटम देते हैं कि वह हमारे समकक्ष आए एवं बेरोजगारों का एक साथ बिना किसी पार्टी स्वार्थ के समर्थन करें अन्यथा किसी भी जनप्रतिनिधि को बख्शा नहीं जाएगा ।

एक जरुरी बात यह भी है कि जब राज्य की कॉंग्रेस सरकार गिरने वाली थी तब BTP के दो विधायकों ने सरकार के समक्ष कुल 11 या 12 मांग रखी थी ।
उसमे से एक मांग थी कि रिक्त 1167 पद जो अनारक्षित थे उन पर ST के योग्य उम्मीदवार को नियुक्ति दी जाए।
लेकिन अब तक मांग पूरी नहीं हुई है ऐसे में वर्तमान सरकार ने BTP विधायकों की मांग को पूरा करने से सरकार शायद पीछे हट रही है ।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1,535 views