11वीं वर्षगांठ पर सरपंच ललिता देवी बोली -लोक कलाओं को मंच दे रहा है रेडियो मधुबन: मैंने भी सुनकर हिंदी भाषा सुधारी है

रेडियो मधुबन के वार्षिकोत्सव पर विकासखंड स्तरीय संगीत और भाषण प्रतियोगिता आयोजित

22 जनवरी, आबू रोड
| रिपोर्ट- रेडियो मधुबन (KOTDATIMES.COM)

 रेडियो मधुबन (90.4 एफएम) लोक कलाओं और उभरती प्रतिभाओं के लिए मंच देने का कार्य कर रहा है। इससे जुड़कर विद्यार्थियों के लिए भी अपना हुनर दिखाने का मौका मिल रहा है। इससे कई बच्चों के अंदर छिपी प्रतिभा सभी के सामने आई है। कई लोगों के जीवन में नवप्रकाश आया है। मैंने भी रेडियो मधुबन सुनकर हिंदी भाषा सुधारी है। पहले की अपेक्षा मेरी हिंदी में काफी सुधार आया है। स्थानीय बोली को आगे बढ़ाने में भी रेडियो मधुबन की समाजहित में भूमिका को भुलाया जा नहीं सकता है।

कार्यक्रम में सभी के स्वागत के लिए स्वागत नृत्य की प्रस्तुति देती बालिकाएं


उक्त उद्गार गणका गांव की सरपंच ललिता देवी ने व्यक्त किए। मौका था रेडियो मधुबन के 11वें वार्षिकोत्सव संगम का। ब्रह्माकुमारीज के मनमोहिनीवन स्थित ग्लोबल ऑडिटोरियम में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान विद्यार्थियों के लिए संगीत और भाषण प्रतियोगिता आयोजित की गई। इसमें अलग-अलग क्षेत्रों से आए बच्चों ने भाग लिया। समापन पर सभी प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र और स्मृति चिंह्न भेंटकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके गीता बहन ने कहा कि रेडियो मधुबन आज जन-जन की आवाज बन गया है। गांवों में लोगों के दिन की शुरुआत रेडियो सुनने के साथ ही होती है। इससे उन्हें खेती-बाड़ी के साथ ही मौसम की भी जानकारी समय प्रति समय मिलती रहती है। रेडियो मधुबन की टीम समाज कल्याण और जन जागृति के लिए भी बहुत ही सराहनीय कार्य कर रही है। इससे समाज में सकारात्मक बदलाव आ रहा है। नई-नई प्रतिभाओं को मंच मिलने से उनके अंदर आगे बढऩे की चाह जागी है।

रेडियो मधुबन की 11वीं वर्षगांठ पर आयोजित संगम कार्यक्रम में उपस्थित लोग

रेडियो मधुबन के स्टेशन हेड यशवंत पाटिल ने कहा कि रेडियो स्टेशन की सफलता के पीछे सर्वशक्तिवान परमपिता परमात्मा के वरदान, आशीर्वाद और शक्ति का ही कमाल है। सबसे बड़ी बात रेडियो मधुबन की पूरी टीम व्यसनमुक्त और संयम के पथ पर चलने वाली है। सभी राजयोग मेडिटेशन का अभ्यास करते हैं। इससे उनकी रचनात्मकता और सृजन शक्ति में दिनोंदिन बढ़ोतरी हो रही है। वरिष्ठ राजयोगी बीके तुलसी भाई ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

रेडियो मधुबन की 11वीं वर्षगांठ पर आयोजित संगम कार्यक्रम में प्रतिभा को सम्मानित करते हुए

मारवाड़ी गीत से बांधा समां-
हमारे समुदाय की आवाज ऊषा ने मारवाड़ी में गीत प्रस्तुत कर कार्यक्रम में समां बांध दिया। संगीत शिक्षिका श्यामली ने परमात्म गीत प्रस्तुत किया। रेडियो मधुबन के बाल कलाकार अमन और शिवानी ने देश रंगीला गीत पर नृत्य प्रस्तुत, वहीं तबले पर संगत बीके विवेक ने दी।  इस दौरान अतिथियों ने रेडियो मधुबन टीम द्वारा तैयार की गई दो विशेष सर्विस रिपोर्ट किताबें- टैलेंट हंट सर्विस रिपोर्ट व कम्युनिटी सर्विस रिपोर्ट का अनावरण किया। बीके मोना ने मंच संचालन किया।

रेडियो मधुबन की 11वीं वर्षगांठ पर आयोजित संगम कार्यक्रम में अपने गीत की प्रस्तुति देता प्रतिभागी

Block Level Singing & Speech Compitition
Singing Top 3
1st Devesh, Santpur
2nd Minakshi – Kiwarli
3rd Payal Kumari, Wasda

Speech Top 3
1st Drishti, Morthala
2nd Poonam Behn, Oriya
3rd Bhalaram, Chandrawati

“Voice of Aravali” Singing Talent Hunt Grand Finale
– Champion : Rekha Nagpura
– Runner Up 1 : Satyanarayan
– Runner Up 2 : Aman

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

513 views