कोटड़ा के देवला में मजदूर सम्मेलन मजदूरों ने भरी हुंकार कहा हमारा हक लेकर रहेगे

रिपोर्ट – कोटड़ा टाइम्स पाठक 1/5/22(Kotdatimes.com)

देश के विकास में सबसे अधिक भूमिका निभाने वाले मजदूरों की हालत आज अच्छी नही है। आदिवासी इलाके के मजदूर अपने श्रम से जो बदलाव ला रहे है उसका पूरा मेहनताना उन्हें नही मिल रहा है। यह बात राजस्थान आदिवासी अधिकार मंच के संयोजक धर्मचन्द खेर ने आदिवासी विकास मंच द्वारा देवला के आयोजित मजदूर सम्मेलन में कही।सम्मेलन में 250 महिला पुरुष श्रमिको ने भागीदारी की। श्रमिको में मुख्यतः निर्माण कार्य, नरेगा श्रमिक व पत्थर घड़ाई काम पर जाने वालर मजदूरो ने भाग लिया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता समर्थक समिति के भूराराम गरासिया ने की।

*न्यूनतम मजदूरी से भी दूर नरेगा श्रमिक*

मंच से जुड़ी हेमलता श्रीमाली ने बताया कि महिलाएं हजारो की संख्या में नरेगा में काम करती है लेकिन आज भी न्यूनतम मजदूरी से वह दूर है उन्होंने कहा कि सरकार को वह व्यवस्था बेठानी चाहिए कि सभी नरेगा मजदूरो को वर्ष में 125 दिन काम और 231 रु दैनिक मजदूरी समय पर मिले। उन्होंने श्रमिको से भी अपील की ले वे काम पर जाए तो नपती से काम मांगे व वापस नपती से काम पूर्ण कर उसका नाप मेट से निलकवाये।

सिलिकोसिस नीति का नही है सही क्रियान्वयन

सिलिकोसिस मुद्दे से जुड़े मंच के दिलीप ने बताया कि कोटड़ा इलाके से सेकड़ो को संख्या में श्रमिक सिलिकोसिस से पीड़ित है। राज्य सरकार द्वारा इनकी सुरक्षा के लिए 2019 में नीति भी लाई गई परन्तु इसका धरातलीय क्रियान्वयन सही नही होने से मजदूर बेमौत मर रहा है। मेडिकल बोर्ड द्वारा बगेर जांच के ही पीड़ितों के आवेदन निरस्त किये जा रहे है जो बहुत गंभीर है इसके लिए उन्होंने सभी श्रमिको को संगठित होकर संघर्ष करने की बात कही।

90 दिन होने के बाद भी भवन निर्माण बोर्ड में नही हो रहा पंजीयन

मंच के अमरसिंह, रेशमाराम और शांतिलाल ने बताया कि कोटड़ा में हजारों श्रमिको के नरेगा में 90 दिन हुए है या अन्य निर्माण स्थलों पर भी काम किया है। परन्तु सरकार द्वारा आधार आधारित OTP का प्रावधान होने से श्रमिको का पंजीयन नही हो पा रहा है उन्होंने सरकार से अपील की के OTP के साथ ही फिंगर प्रिंट का भी प्रावधान किया जाए ताकि श्रमिको का जुड़ाव हो सके। कोटड़ा में अभी 3 हजार से भी कम श्रमिक बोर्ड में पंजीकृत है जबकि हर परिवार में एक सदस्य निर्माण काम से जुड़ा हुआ है।कार्यक्रम में मंच के रमेश गरासिया द्वारा धन्यवाद ज्ञापित किया गया। मंच के होनाराम और भीमाराम ने कार्यक्रम का संचालन किया।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

265 views